झारखंड में वैवाहिक परंपरा |आदिवासी विवाह के प्रकार

झारखंड में वैवाहिक परंपरा, जनजातियों में व्यवहारिक संस्कारों में आंशिक भिन्नता देखी जाती है,  वैवाहिक संबंधों में जनजातियों की मान्यता भिन्न है,  सामाजिक व्यवस्था के अंतर्गत जनजातियों में गोत्र को मान्यता मिली है

झारखंड में वैवाहिक परंपरा / आदिवासी विवाह के प्रकार 

Jharkhand Current Affairs

SPT ACT CNT ACT

Solve JPSC TEST SERIES

 महत्वपूर्ण तथ्य:

  •  प्रत्येक जनजाति में गोत्रों की बहुलता पाई जाती है
  •  सगोत्र विवाह वर्जित है 

किस जनजाति में गोत्र व्यवस्था का अभाव है =  सुरैया पहाड़ियां

जनजातियों का  इष्ट  प्रतीक को क्या कहा जाता है =  टोटेम

सगोत्र विवाह करने वाले को किस प्रकार का दंड का प्रावधान है =  बीटलाहा

केवल किस जनजाति में बाल विवाह अक्सर मान्य है =  मुंडा जनजाति

 क्षेत्रीय विवाह प्रथा:

  •  सादाई वापला
  •  गोलटी वापला
  • घरदी जावाय

वधू मूल्य विभिन्न जनजातियों में किस नाम से जाना जाता है

  • संथाल   =  पोनटका
  • मुंडा      =   कुरी गोनोन्ग
  • हो         =   दूतम
  • पहाड़िया =  बीते

जनजातियों में विवाह का प्रकार:

  • क्रय विवाह = कन्या पक्ष को कन्या मूल्य के रूप में कुछ धन प्रदान किया जाता है
  • सेवा विवाह =  वधू मूल्य ना देने पर उनकी सेवा कर मूल्य चुकाना को सेवा विवाह करते हैं
  • हरण विवाह =  कन्या का अपहरण करना हरण विवाह कहलाता है
  • हठ विवाह = लड़की बगैर किसी से विचार विमर्श किए स्वयं लड़के का घर जाकर रहने लगती है
  • पलायन विवाह =  विवाह के अनुमति ना होने पर लड़के तथा लड़की एक साथ कहीं भाग जाते हैं
  • विनिमय या गोलट विवाह =  लड़के की शादी दूसरे परिवार की लड़की से और दूसरे परिवार की लड़की की शादी पहले परिवार के लड़के से संपन्न होती है

किस जनजाति में सेवा विवाह का प्रचलन है =  मुंडा जनजाति,  बिरहोर जनजाति,  संथाल जनजाति

किस जनजाति में हरण विवाह का प्रचलन है =  खड़िया जनजाति,  बिरहोर जनजाति,  मुंडा जनजाति,  सुरैया पहाड़िया,  आदि

जनजाति में हठ विवाह का प्रचलन है = खड़िया जनजाति,  बिरहोर जनजाति,  मुंडा जनजाति, हो जनजाति

किस जनजाति में पलायन विवाह का प्रचलन है = खड़िया जनजाति,  बिरहोर जनजाति,  मुंडा जनजाति

झारखंड में वैवाहिक परंपरा

Follow us on Facebook

Jobs in Jharkhand

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: